RSS

औरत …

30 Dec

from googal photos

from googal photos

औरत …
कहने को तो घर की लक्ष्मी
हक़ीक़त में पराश्रित और लाचार.
न घर में सुरक्षित न बाहर कही.
ज्यादातर पुरूषों के लिए
हाड़ माँस का खिलौना है शायद.
उनकी गीध सी आँखें नोचने को तैयार.
वो भूखे,बेजान जिस्म को भी नहीं बक्श्ते
नोच खाते है तन के साथ मन को भी .
अब बहोत हुआ ये नग्न तमाशा.
अब नए साल की प्रतिक्षा में
तेरा एक सहारा बाकी है
बनके मजलूम औरतो का मसीहा,
अब तो उदय हो जाओ….टूट चुकी हूँ मैं.
रेखा (सखी )

Advertisements
 

One response to “औरत …

  1. Ketan Desai

    December 31, 2012 at 11:01 pm

    Superb. Rekha you rocking. Keep up the good work. Congrats

     

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: